उफान पर गंगा, टापू के गांवों में हो सकती है परेशानी

0
33

गजरौला। बिजनौर बैराज से 90 हजार क्यूसेक पानी छोड़े जाने के कारण गंगा उफान पर है। बाढ़ का पानी खेतों में भरने लगा है। अचानक तिगरी में गंगा का जल स्तर 40 सेंटीमीटर बढ़ गया है। कई दिन से पानी कम होने के कारण राहत की सांस ले रहे खादर और टापू के ग्रामीणों की मुश्किलें फिर बढ़ गईं। ग्रामीणों को डर सता रहा है कि इसी गति से पानी बढ़ता रहा तो टापू के गांवों में भर सकता है।

बिजनौर बैराज से गंगा में 90 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा गया। जिसके चलते गंगा उफान पर है। बाढ़ खंड के जेई के अनुसार तिगरी में गुरुवार की सुबह आठ बजे जल स्तर 200 मीटर दर्ज किया गया, जबकि एक दिन पहले 199 मीटर था। 24 घंटे में जल स्तर 40 सेंटीमीटर बढ़ गया है। गंगा में 90 हजार क्यूसेक पानी छोड़े जाने से इलाके में बाढ़ के हालात बन गए हैं। खेतों में बाढ़ का पानी भरने लगा है। खादर और टापू में बसे ग्रामीणों की धड़कनें बढ़ गई हैं। ग्रामीणों का कहना है कि इसी गति से पानी बढ़ता रहा तो गांवों में भी बाढ़ का पानी भर जाएगा। जो फसल लंबे समय तक पानी में डूबी रहीं थीं, लेकिन बाढ़ कम होने के कारण उनको कुछ राहत मिली, उन फसलों को खासा नुकसान होगा। उधर बाढ़ का पानी खेतों में भर जाने के कारण चारे की किल्लत से जूझना पड़ेगा।

बिजनौर बैराज से गंगा में 90 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा गया है। जिससे गंगा उफान पर है। तिगरी में जल स्तर 200 मीटर पहुंच गया है, जबकि एक दिन पहले यह 199.60 मीटर था। 24 घंटे में 40 सेंटीमीटर पानी बढ़ गया है-अनवार बहादुर खान, जेई बाढ़ खंड तिगरी।
ये भी पढ़ें…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here